Followers

Monday, 3 September 2012

लिख लिख कालिख कोल, जवाबों में कंजूसी-

Sonia approaches Mulayam in House, raises eyebrows


कानाफूसी दो मिनट, खुश खुश हाय-कमान ।
फुस-फुस  "N D A " हुआ, पहलवान पटियान ।

पहलवान पटियान, पटाया बाम मोर्चा ।
इत्मिनान हुक्काम, होय संसद में चर्चा ।

लिख लिख कालिख कोल, जवाबों में कंजूसी ।
अगर ढोल  न पोल, किया क्यों काना-फूसी ।।

3 comments:

  1. आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टि की चर्चा कल मंगलवार 4/9/12 को चर्चाकारा राजेश कुमारी द्वारा चर्चा मंच पर की जायेगी|

    ReplyDelete

  2. लिख लिख कालिख कोल, जवाबों में कंजूसी ।
    अगर ढोल न पोल, किया क्यों काना-फूसी ।।
    मुन्ना बड़ा प्यारा ,मम्मी का दुलारा ,
    कोई कहे हाथ ,वो तो दिल का भी काला ,


    सोमवार, 3 सितम्बर 2012
    स्त्री -पुरुष दोनों के लिए ही ज़रूरी है हाइपरटेंशन को जानना
    स्त्री -पुरुष दोनों के लिए ही ज़रूरी है हाइपरटेंशन को जानना

    What both women and men need to know about hypertension

    ReplyDelete